Web Browser क्या है? इसके कार्य,प्रकार,तथा सुविधाएं क्या क्या है।

नमस्कार दोस्तों इस पोस्ट में आपको Web Browser क्या है? इसके कार्य,प्रकार,तथा सुविधाएं क्या क्या है। यह एक एप्लीकेशन है जो हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल (HTML) व इंटरनेट प्रोटोकॉल आईपी (IP) को WWW वेब के लिए क्लाइंट साइड पर सपोर्ट करती है प्रथम ग्राफिकल वेब ब्राउज़र 1993 में मार्क ऐडसेंस के नेतृत्व में नेशनल सेंटर का सुपर कंप्यूटिंग एप्लीकेशन (NCSA) के छात्रों के समूह द्वारा विकसित या बनाया गया इस ब्राउज़र को मोजैक नाम दिया गया और यह फ्री उपलब्ध था 1994 में मार्क ऐडसेंस NCSA को छोड़कर नेट एस्केप कम्युनिकेशन की स्थापना में शामिल हुए जहां उन्होंने नेट एस्केप नेविगेटर ब्राउज़र बनाया। आज के समय में Web Browser सर्च इंजन का प्रयोग सबसे अधिक किया जाता है। तो चलिए दोस्तों Web Browser के बारे में विस्तार से जानते है –

Web Browser क्या है?

वेब ब्राउज़र एक ऐसा प्रोग्राम है जिसकी सहायता से इंटरनेट पर उपलब्ध सारी सुविधाओं तथा स्रोतों को www के माध्यम से एक्सेस करने का कार्य किया जाता है |

एक वेब सर्वर पर प्रकशित कंटेंट को वेब ब्राउज़र या जिसे हम ब्राउज़र भी कहते हैं की मदद से एक्सेस या ब्राउज़ कर सकते हैं यह कंटेंट स्टैटिक भी हो सकते हैं, अर्थात हाईपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज का उपयोग करके आस्की टेक्स्ट फाइल के फॉर्मेट को रखते हैं या कंटेंट डायनेमिक भी हो सकते हैं|

अर्थात इनका जरूरत पड़ने पर क्लाइंट साइड या सर्वर साइड स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज जैसे जब स्क्रिप्ट या माइक्रोसॉफ्ट विजुअल बेसिक स्क्रैचिंग एडिटिंग भी स्क्रिप्ट में निर्मित किया जाता है वेब ब्राउज़र विशेष रूप से अतिरिक्त गुणों  को प्रस्तुत करता है जो वेब ब्राउजिंग या एक्साक्सिंग को और अधिक आसान व लाभदायक बनता है|

इसमें निम्न गुणों को शामिल किया गया है-

  • टूलबार बटन जिसका उपयोग पुराने दिखाए गए पेज की ट्री को फॉरवर्ड (आगे) या बैकवर्ड (पीछे) करने के लिए डाउनलोड प्रक्रिया को समाप्त करने के लिए और अपूर्ण लोड पेज को रिफ्रेश करने के लिए किया जाता है |
  • फेवरेट या बुकमार्क्स की लिस्ट जो कि किसी साइड को शीघ्र अति शीघ्र एक्सेस करने के लिए यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर यूआरएल (URLs) को संग्रह करती है साथ ही साथ उन यूआरएल (URLs) को संगठित हुआ एक्सेस करने का टूल्स है |
  • डिफॉल्ट होम पेज जहां से ब्राउज़र शुरू होती है उसके लिए ऑप्शन देगा, वेब सर्च करने के लिए डिफॉल्ट सर्च इंजन और उन डिफॉल्ट ब्राउजिंग आप्शन उपलब्ध करना।
  • एक्टिवेट कंपोनेंट या जावा लिस्ट या उन स्क्रिप्ट को ब्राउज़र पर रन करते समय हैडलिंक करने के लिए सिक्योरिटी ऑप्शन देना जो यह तय करते हैं कि इन्हीं रन करना है या नहीं।
  • सोर्स कोड या एचटीएमएल (HTML) पेज को डिस्प्ले (दिखाने) की सुविधा साथ ही वेब कंटेंट को एडिट व पब्लिश करने की सुविधा उपलब्ध करना।
  • अन्य इंटरनेट सॉफ्टवेयर का एक साथ एकीकरण जैसे- मेल, न्यूज़ या चैट एप्लीकेशन।

 

(Web Browser) वेब ब्राउज़र के प्रकार 

(web browser) वेब ब्राउज़र के प्रकार निम्नलिखित हैं।

  1. मोजैक (Mosaic)
  2. मोज़िला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox)
  3. नेटस्केप नेविगेटर (Netscape Navigator)
  4. लिंक्स (Lynx)
  5. इंटरनेट एक्सप्लॉरर (Internet expolorer)

 

(web browser) वेब ब्राउज़र के कार्य 

(web browser) वेब ब्राउज़र के कार्य निम्नलिखित हैं जो इंटरनेट पर उपयोग किए जाते हैं –

  • इंटरनेट से उपयोगी फाइल को कॉपी करना।
  • इंटरनेट पर उपलब्ध ज्ञान बाधक जानकारी को डाउनलोड करना।
  • विभिन्न वेबसाइटों की खोज करना।
  • अन्य उपयोगकर्ता को ई-मेल भेजना तथा ई-मेल प्राप्त करने हेतु।
  • खोजकर वेबसाइट को कंप्यूटर स्क्रीन पर दर्शन|
  • एक वेबसाइट से दूसरी अन्य वेबसाइट पर जाना तथा उसका उपयोग करना।
  • उपयोगकर्ता को ज्ञान बैठक वेबसाइट की जानकारी देना।

 

किसी (web browser) वेब ब्राउज़र पर उपलब्ध विभिन्न प्रकार की सुविधा 

web ब्राउज़र एक एप्लीकेशन्स प्रोग्राम है इसका प्रयोग कर सभी इंटरनेट उपयोगकर्ता www (world wide web) से जानकारी व सूचना प्राप्त करते है| सभी web browser लगभग सभी एक समान सुविधा प्रदान करते है|

किसी (web browser) वेब ब्राउज़र पर उपलब्ध विभिन्न प्रकार की सुविधा निम्नलिखित हैं –

  1. लोकेशन बॉक्स (Location Box)
  2. टूलबार (Toolbar)
  • Back तथा forword बटन
  • रिफ्रेश बटन (Refresh Button )
  • होम बटन (Home Button)
  • सर्च बटन (Search Button)
  • फेवरेट (Favorites)
  • प्रिंट बटन (Print Button)
  • फोंट बटन (Font Button)
  • मेल (Mail)
  • एडिट (Edit)
  • रीलोड तथा स्टॉप (Reload and Stop)
  • इतिहास (History)

 

1. लोकेशन बॉक्स (Location Box)

लगभग सभी वेब ब्राउज़र यूआरएल (URL) को लोकेशन बॉक्स (Location Box) में दर्शाते हैं यह यूआरएल (URL) उस वेबसाइट का इंटरनेट एड्रेस दर्शाता है जिसे उपयोगकर्ता देख रहा होता है

इसमें अन्य डॉक्यूमेंट तथा विशिष्ट डायरेक्टरी को भी दर्शाया जाता है इस यूआरएल (URL) को लोकेशन बॉक्स (Location Box) में बदला जा सकता है जिससे कि उपयोगकर्ता किसी अन्य वेबसाइट पर जा सके तथा उसे देखकर उसे पर आवश्यक कार्य कर सके।

2. टूलबार (Toolbar)

इंटरनेट एक्सप्लोरर का टूलबार (Toolbar) विभिन्न शॉर्टकट तथा बटन से युक्त होता है इसे इंटरनेट पर सर्फिंग वह ब्राउजिंग तेज व आसान हो जाती है टूलबार (Toolbar) पर बने विभिन्न बटन शॉर्टकट के समान कार्य करते हैं तथा इन बट्नों पर क्लिक करने से विभिन्न प्रकार की क्रियाएं होती हैं-

इन विभिन्न प्रकार के बटनों में कुछ बटन निम्नलिखित हैं-

  • Back तथा forword बटन

उपयोगकर्ता द्वारा इंटरनेट प्रयोग करते समय एक वेब से अन्य वेब पेज खोलते हैं तथा आवश्यकता के अनुसार यदि उपयोगकर्ता दर्शाए गए वेब पेज को पहले खोले वेब पेज को देखना चाहते हैं तब back बटन का प्रयोग करते हैं ठीक उसी प्रकार यदि उपयोगकर्ता back बटन का प्रयोग करने से पश्चात पुनः आगे के पेज खोलना चाहता है तब forword button का प्रयोग किया जाता है।

  • रिफ्रेश बटन (Refresh Button )

इंटरनेट से जुड़ने की पहचान कभी-कभी वेब ब्राउज़र को अपडेट करने की आवश्यकता होती है अथवा किन्ही कारणों से वेबसाइट के पूर्ण रूप से न खुलने पर उसे रिफ्रेश करने पर वह वेब पेज पुनः पूर्ण रूप से खुल जाता है इससे वेब पेज के डाउनलोड होने का समय बच जाता है।

  • होम बटन (Home Button)

वेब ब्राउज़र पर बनी होम बटन द्वारा किसी भी वेबसाइट का होम पेज खुल जाता है इस बटन पर क्लिक करने पर उपयोग करता किसी भी वेबसाइट से लौटकर उसे साइट के होम पेज को खोलता है।

  • सर्च बटन (Search Button)

सर्च का अर्थ है खोजना, वेब ब्राउज़र में सर्च बटन पर क्लिक करने से बाय पैनल में विभिन्न चर्चित इंटरनेट सर्च इंजन दर्शाए जाते हैं इन सर्च इंजन में से किसी एक सर्च इंजन को चुनकर उसे पर क्लिक करने से वेब पेज दाएं पैनल में खुलकर सामने आ जाता है इस वेब पेज में वेबसाइट सर्च का कार्य किया जाता है।

  • फेवरेट (Favorites)

फेवरेट बटन पर क्लिक करने पर उन वेबसाइट की एक सूची खुलकर सामने आ जाती है यह सूची उपयोगकर्ता अपनी पसंद की वेबसाइट है जोड़कर बना सकते हैं तथा इस सूची में दर्ज किसी भी तत्व पर क्लिक कर वेबसाइट को खोल सकते हैं जब उपयोगकर्ता किसी वेब पेज को फेवरेट की सूची में जोड़ते हैं तब वह “मेक अवेलेबल ऑफ लाइन” अर्थात “Make Available Offline” ऑप्शन को चुनकर वेब पेज को सुरक्षित कर लिया जाता है।

  • प्रिंट बटन (Print Button)

इंटरनेट पर बहुत सी सूचना उपलब्ध होती हैं उपयोगकर्ता जब इंटरनेट पर कार्य करते करते हैं तब आवश्यकता पड़ने पर उपयोगकर्ता इस प्रिंटर द्वारा प्रिंट भी कर सकते हैं किसी वेब पेज पर उपस्थित सूचना को प्रिंट करने के लिए प्रिंट बटन पर क्लिक किया जाता है।

  • फोंट बटन (Font Button)

इंटरनेट पर फोंट के आकार को बड़ा अथवा छोटा करने हेतु वेब ब्राउज़र पर उपलब्ध सुविधा पर माउस से क्लिक करने पर टेक्स्ट के फॉन्ट का आकार छोटा हुआ बड़ा हो जाता है फोंट बटन यह सुविधा प्रदान करता है यह सुविधा इंटरनेट एक्सप्लोरर के 4.0 संस्करण में उपलब्ध है तथा इंटरनेट एक्सप्लोरर 5.0 संस्करण में यह सुविधा व्यू मेनू में टेक्स्ट साइज के ऑप्शन बार के रूप में उपलब्ध है।

  • मेल (Mail)

यह बटन उपयोगकर्ता को माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक से जोड़ता है इसके द्वारा संदेश भेजें जाते हैं तथा संदेश प्राप्त भी किए जाते हैं इस बटन पर क्लिक करने पर न्यूज़ ग्रुप संदेश तथा इलेक्ट्रॉनिक मेल को पढ़ सकते हैं।

  • एडिट (Edit)

एडिट बटन पर क्लिक करने पर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड प्रोसेसर में फाइल खुल जाती है यह वह वेब पेज की फाइल है जिसका को कोड एचटीएमएल (HTML) होता है इस फाइल को पढ़कर इसमें सुधार कार्य भी किया जा सकता है।

  • रीलोड तथा स्टॉप (Reload and Stop)

बहुत से वेब ब्राउज़र में कैश तंत्र (Cache System) होता है इस केस मेमोरी तंत्र द्वारा कंप्यूटर की हार्ड डिस्क ड्राइव पर उपयोग करता द्वारा खोले गए वेब पेज खुल जाते हैं तथा यह सुरक्षित हो जाते हैं कभी-कभी उपयोगकर्ता को अपडेट किया गया वेब पेज भी दिखाई पड़ता है

रीलोड बटन पर क्लिक करने पर वेब डॉक्यूमेंट की नई कॉपी एरर (Error) हो जाती है तब भी रीलोड बटन पर क्लिक कर पुनः डाउनलोड करने का कार्य किया जाता है।

स्टॉप बटन (Stop Button) का प्रयोग इंटरनेट से उपयोगकर्ता के कंप्यूटर पर डाउनलोड को स्टॉप करने अर्थात रोकने हेतु होता है |

यदि इंटरनेट से वेबसाइट को डाउनलोड करने तथा वेबसाइट एक किसी तत्व को डाउनलोड करने में समय अधिक लगने पर अथवा भली भांति से वेब पेज के डाउनलोड ना होने पर इस स्टॉप बटन का प्रयोग किया जाता है |

यदि इस स्टॉप बटन का प्रयोग करें वेबसाइट अथवा वेबपेज को डाउनलोड होने से रोक दिया गया है तब रीलोड बटन का प्रयोग कर इस वेबसाइट को पुनः लोड किया जा सकता है।

  • इतिहास (History)

इस बटन पर क्लिक करने पर कंप्यूटर स्क्रीन पर विंडो पर बाई ओर एक स्प्लिट विंडो खुल जाती है तथा इसमें दोनों के अनुसार खोली गई वेबसाइट हुआ वेब पेज का नाम दर्ज होता है

पुनः इन्हीं वेबसाइट अथवा वेब पेज को इंटरनेट पर देखने हेतु इस सूची का प्रयोग कर मात्र उसे पर क्लिक करने से स्क्रीन पर वह वेबसाइट खुल जाती है इस सूची में दर्ज वेबसाइट में से कुछ वेबसाइट को उपयोगकर्ता द्वारा हटाया जा सकता है अर्थात इन्हें डिलीट किया जा सकता है।

इस प्रकार इंटरनेट सर्फिंग में मदद करने वाले वेब ब्राउज़र कई प्रकार के टूल उपलब्ध कराते हैं जिसके द्वारा इंटरनेट वेब ब्राउजिंग बहुत आसान हो जाती है।

FAQ

1. एक वेब सर्वर पर प्रकशित कंटेंट को क्या कहते हैं?

एक वेब सर्वर पर प्रकशित कंटेंट को वेब ब्राउज़र या जिसे हम ब्राउज़र भी कहते हैं

2. वेबसाइट को पुनः लोड कैसे किया जा सकता है।

यदि इस स्टॉप बटन का प्रयोग करें वेबसाइट अथवा वेबपेज को डाउनलोड होने से रोक दिया गया है तब रीलोड बटन का प्रयोग कर इस वेबसाइट को पुनः लोड किया जा सकता है।

3. फोंट बटन क्या सुविधा प्रदान करता है?

इंटरनेट पर फोंट के आकार को बड़ा अथवा छोटा करने हेतु वेब ब्राउज़र पर उपलब्ध सुविधा पर माउस से क्लिक करने पर टेक्स्ट के फॉन्ट का आकार छोटा हुआ बड़ा हो जाता है फोंट बटन यह सुविधा प्रदान करता है

4. back बटन का प्रयोग क्या हैं?

आवश्यकता के अनुसार यदि उपयोगकर्ता दर्शाए गए वेब पेज को पहले खोले वेब पेज को देखना चाहते हैं तब back बटन का प्रयोग करते हैं

Conclusion (निष्कर्ष)

तो दोस्तों इस Web Browser क्या है? इसके कार्य,प्रकार,तथा सुविधाएं क्या क्या है। पोस्ट आपको अच्छी और हेल्पफुल लगी होगी इसी तरह की पोस्ट पढ़ने के लिए आप comment करे तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे

 

Leave a Comment