टैब्स क्या हैं?  Tab in hindi

Tab in hindi – नमस्कार दोस्तों आज आपको इस पोस्ट टैब्स क्या हैं? (Tab in hindi) के बारे में विस्तार से जानकारी देगे तथा इस टैब्स के प्रकार के बारे में जानकारी देगे इस पोस्ट में क्यू कि किसी भी प्रकार के कंप्यूटर में हर प्रकार सॉफ्टवेयर मजूद रहते तो संभव है कि उसके टैब का होना भी जरूरी होता है इसलिए कंप्यूटर के प्रोग्राम में टैब्स का सबसे जायदा योगदान रहता आज हम इसी टैब्स के बारे में विस्तार से जानने की कोशिस करेगे ताकि हम टैब्स को बहुत ही आसानी से जन पाए तथा हम इसको बारीकी से समझने की कोशिश करेगे तो चलिए दोस्तों अब शुरू करते है

 

टैब्स क्या होते हैं? Tab in hindi-

Tab in hindi – रिबन टैब (Ribbon Tab) – पॉवरप्वॉइण्ट 2013 में रिबन टैब्स का ग्रुप होता है। इस रिबन में दो प्रकार के टैब्स होते हैं, कमाण्ड टैब्स और कन्टेक्सचुअल (Contextual) टैब्स। कमाण्ड टैब विशेष श्रेणी की कमाण्ड्स का कनेक्शन होता है। कमाण्ड टैब के कमाण्ड्स अलग-अलग ग्रुप में रखे जाते हैं। प्रत्येक कमाण्ड सेट, कमाण्ड्स को एक सब कैटेगरी में रीप्रेजेन्ट करता है। कन्टेक्सचुअल टैब्स पर तब दिखाई देते हैं, जब किसी ऑब्जेक्ट को ऐड या सिलेक्ट किया जाता है। जैसे इमेज, टेबल या पॉवरप्वॉइंट पर एक चार्ट -Format टैब कन्टेक्सचुअल टैब का एक उदाहरण है।

 

टैब्स के प्रकार –

  1.  होम टैब (Home Tab)
  2.  इन्सर्ट टैब (Insert Tab)
  3.  डिजाइन टैब (Design Tab)
  4.  ट्रॉजीशन्स टैब (Transition Tab)
  5.  एनीमेशन्स टैब (Animations Tab)
  6.  स्लाइड शो टैब (Slide Show Tab)
  7.  रिव्यू टैब (Review Tab)
  8.  व्यू टैय (View Tab)

 

1. होम टैब (Home Tab) 

जब इस टैब पर क्लिक करते हैं, तब यह टैब एक्टिव होता है। इस टैब में वे विकल्प (Option)व्यवस्थित होते हैं जो डॉक्यूमेन्ट कन्टेन्ट्स के साथ कार्य करने से सम्बन्धित होते हैं। इसमें छः गुप्स-Clipboard, Slides, Font, Paragraph, Drawing एवं Editing होते हैं। इसमें केवल बटन ही एक्टिव रहते हैं जो करष्ट में सिलेक्ट किए गए डॉक्यूमेन्ट पर परफॉर्म किए जाने वाली कमाण्ड्स को रोप्रेजेन्ट करते हैं।

Home टैब का ग्रुप्स इस प्रकार होता है-

(1) Clipboard – इसमें Cut, Copy, Format Painter और Paste कमाण्ड्स होती है।

(ii) Slides – यह सेक्शन New Slide इन्सर्ट करने की अनुमति देता है तथा इसके स्थान पर अलग-अलग स्लाइड्स के Layout ऐडजस्ट करता है, स्लाइड्स को डिफॉल्ट पर Reset कर सकता है और स्लाइड्स को डिलीट भी कर सकता है।

(iii) Font यूजर फॉण्ट सिलेक्ट कर सकते हैं। फॉण्ट टाइप एवं साइन ऐडजस्ट कर सकते हैं, इसे बोल्ड, इंटेलिक या अण्डरलाइन भी कर सकते हैं। कलर या हाइलाइटिंग को परिवर्तित कर सकते हैं। Home टैब का प्रयोग करके, यूजर सिलेक्ट किए गए टेक्स्ट को अपर केस या लोअर केस में परिवर्तित कर सकते हैं। (iv) Paragraph – यह बुलेट्स या नम्बर्ड लिस्ट बनाता है। यह टेक्स्ट का एलाइनमेष्ट भी परिवर्तित करता है और लाइन के मध्य की स्पेसिंग भी परिवर्तित करता है।

(v) Drawing – शेप्स (Shapes) इन्सर्ट करता है। एक दी गई स्लाइड में ऑब्जेक्ट्स व्यवस्थित (Arrange) करता है। सिलेक्टिड शेप में फिल कलर भी एप्लाई करता है और Shape Effects भी ऐड करता है।

(vi) Editing यह टेक्स्ट को End, Select और Replace करता है।

 

2. इन्सर्ट टैब (Insert Tab) 

इस बटन पर क्लिक करके यूजर Insert किए जाने वाले रिलेटिड आइटम्स Insert कर सकते हैं, ये आइटम्स इस टैब पर व्यवस्थित होते हैं। इसमें दस ग्रुप्स है Table, Images, Illustrations, Links, Text,

Symbols, Apps, Slides, Comments और Media। जब भी यूजर अपने स्लाइड शो में कुछ इन्सर्ट करना चाहते है, तब Insert टैब में जाकर यूजर ऐसा कर सकते हैं।

Insert टैब के ग्रुप्स निम्न प्रकार है-

(1) Tables – स्लाइड में टेबल्स इन्सर्ट करता है। ये पहले से बनी होती है या यूजर इन्हें अपनी इच्छानुसार बना सकते हैं।

(ii) Images – यह एक फाइल में पिक्चर्स इन्सर्ट करने एवं स्लाइड में क्लिपआर्ट इन्नार्ट करने की अनुमति देता है। यूजर फोटो एलबम भी बना सकते हैं और पिक्चर्स में विजुअल (Visaul Effects) भी डाल सकते हैं। Screenshot से यूजर कम्प्यूटर पर खुली

हुई करण्ट विण्डो (Current Window) का वास्तविक स्क्रीनशॉट ले सकता है।

(iii) Illustrations- यह यूजर को प्रीडिफाइण्ड शेप्स, स्मार्ट आर्ट और चार्ट्स को प्रेजेन्टेशन में इन्सर्ट करने की अनुमति देता है।

(iv) Links – एक हाइपरलिंक ऐड करता है, ताकि यूजर अपने स्लाइड शो से बाहर निकलकर येब रिसोर्स में जा सकें। यदि आप किसी ऑब्जेक्ट को माउस से प्वॉइण्ट करते हैं तो स्लाइड शो में कुछ परिवर्तन करने के लिए इसके साथ एक्शन जोड़ सकते हैं।

(v) Text – यह केवल स्लाइड में टेक्स्ट टाइप करने के लिए ही नहीं होता है। इन्सर्ट Text Box से यूजर शब्दों को लोकेशन एर्व ओरिएण्टेशन के साथ प्ले कर सकते है तो स्लाइड शो में कुछ परिवर्तन करने के लिए इसके साथ एक्शन जोड़ सकते हैं।

(vi) Symbols – यूजर को इक्वेशन्स (Equations) इन्सर्ट एवं एडिट करने में सहायता करता है तथा प्रेजेन्टेशन में सिम्बल्लस इन्सर्ट करने की अनुमति देता है।

(vii) Media – यह मीडिया और साउण्ड को यूजर की स्लाइड में इन्सर्ट करता है, जिसमें वास्तव में एक मशीन रंगीन प्रेजेन्टेशन बन सकें।

(viii) Apps – यह यूजर को Apps for user के लिए Access करता है।

(ix) Comments – इसकी सहायता से यूजर New slides को जोड़ सकता है।

 

3. डिजाइन टैब (Design Tab)

Design टैब पर क्लिक करने पर डिजाइन से सम्बन्धित विकल्प प्रदर्शित होते हैं, इनसेयूजर अपनी स्लाइड्स में Design डाल सकते हैं। ये Design टैब पर व्यवस्थित होते हैं। इसमें तीन ग्रुप्स होते हैं- Themes,Variants, Customize I अलग-अलग स्लाइड्स का लुक Design देव के कन्टेन्ट्स में ऐडजस्ट करते हैं। केवल एक स्लाइड को परिवर्तित करत हैं या अपने परिवर्तनों की पूरी प्रेजेन्टेशन पर एप्लाई करते हैं।

Design टेब के ग्रुप्स निम्न प्रकार है-

(i) Themes – पॉवरप्वॉइण्ट 2013 में विभिन्न बिल्ट इन थीम्स होती है जो थीम्स कलर, लेआउट और फॉण्ट का कॉम्बिनेशन होती है। अधिक थीम्स के लिए वेब को ब्राउज कर सकते हैं, या अपनी ही कस्टम थीम्स तैयार कर सकते हैं।

(ii) Variant – इसमें सिलेक्ट की गई थीम color, fonts effects और Background चेंज कर सकते हैं। (iii) Customize – इसमें बैकग्राउण्ड को format कर सकते तथा slide का भी बदल सकते हैं।

 

4. ट्रॉजीशन्स टैब (Transition Tab) 

Transitions टैब यूजर इफेक्ट्स एप्लाई करने के बाद, अपने प्रेजेन्टेशन को प्रिव्यू करने की अनुमति देता है। यूजर स्लाइड में ट्रांजीशन्स जोड़ने के साथ-साथ प्रेजेन्टेशन के स्लाइड शो के लिए, टाइपिंग भी कर सकते हैं। इसमें तीन ग्रुप्स होते हैं- Preview, Transition to This Slide एवं Timing

ट्रांजीशन्स टैब के ग्रुप्स निम्न प्रकार है-

(1) Preview – यह ट्रांजिशन इफेक्ट एप्लाई किए जाने के बाद स्लाइड को देखने में सहायता करता है।

(ii) Transition to This Slide यह स्लाइड में ट्रांजिशन एप्लाई करने और ट्रॉजिशन के लिए विशेष रूप से इफेक्ट विकल्प को देता करने की अनुमति देता है।

(iii) Timing – यह यूजर ट्रांजिशन साउण्ड जोड़ने और अगली (Next) स्लाइड में जाने के लिए टाइम सेट करने की अनुमति

देता है।

 

5. एनीमेशन्स टैब (Animations Tab) 

इस टैब में यूजर अपनी स्लाइड में एनीमेशन्स डाल सकते हैं। उदाहरण, यूजर स्लाइड पर अलग-अलग ऑब्जेक्ट्स एनीमेट कर सकते हैं, ये इसी टैब पर उपस्थित होते हैं। इसमें चार गुप्स होते हैं Preview,

Animation, Advanced Animation एवं Timing एनीमेशन्स टैब के ग्रुप्स निम्न प्रकार है-

(1) Preview – यह स्लाइड पर एप्लाई किए गए एनीमेशन को प्रिव्यू करने के लिए प्रयोग होता है। इसमें ट्रॉजिशन इफेक्ट और एनीमेशन, जो ऑब्जेक्ट्स और टेक्स्ट पर एप्लाई होते हैं, सम्मिलित होते हैं।

(ii) Animation – यह एक स्लाइड में Animation एल्पाई करने एवं Animation टाइम पर आधारित इफेक्ट्स एप्लाई करने

में सहायता करता है।

(iii) Advanced Animation यह यूजर को ट्रिगर (Trigger) इफेक्ट एप्लाई किए गए एनीमेशन में ऐडवांस्ड फीचर्स एप्लाई करने की अनुमति प्रदान करता है।

(iv) Timing – यह स्लाइड्स की ड्यूरेशन (Duration) सेट करने और स्लाइड्स के मध्य delay सेट करने में सहायता करता है। इसकी सहायता से यूजर एनीमेशन को भी रिऑर्डर कर सकते हैं।

 

6. स्लाइड शो टैब (Slide Show Tab) 

इस टैब में यूजर वास्तविक प्रेजेन्टेशन को पूरी स्क्रीन पर देख सकते हैं। इसमें तीन ग्रुप्स होते हैं Start Slide Show, Set Up एवं Monitors ।

स्लाइड शो टैब के ग्रुप्स निम्न प्रकार हैं-

(1) Start Slide Show इसे प्रारम्भ में चलाते हैं या सिलेक्टिङ स्लाइड से चलाते हैं अथवा यूजर प्रेजेन्टेशन को केवल उन्हीं

स्लाइड्स को लेकर एक अन्य स्लाइड शो बना सकते हैं, जिन्हें यूजर प्रयोग करना चाहते हैं।

(ii) Set Up – स्लाइड शो के दौरान नैरेशन (Narration) रिकॉर्ड कर सकते हैं। स्लाइड शो में जैसे स्लाइड्स ऑटोमैटिक रूप से ट्रांजिशन होती जाती है, वैसे-वैसे यूजर बोलने के साथ-साथ अपने टाइमिंग्स का अभ्यास भी कर सकते हैं।

(iii) Monitors – यह यूजर को एक स्क्रीन रिजॉल्यूशन Resolution चुनने या प्रेजेन्टर व्यू (Presenter View) चुनने में सहायता करता है।

 

7. रिव्यू टैब (Review Tab) 

इस टैब पर क्लिक करते हैं तो यह आइटम्स से सम्बन्धित विकल्प दर्शाता है। इस टैब में यूजर अपने प्रेजेन्टेशन को देख सकते हैं और उसमें कमेन्ट्स ऐड कर सकते हैं और यूजर डॉक्यूमेंट फिनिश करने के बाद उसमें स्पेलिंग की जाँच भी कर सकते हैं।

रिव्यू टैब के ग्रुप्स निम्न प्रकार है-

(i) Proofing – यह स्पेलिंग (Spelling) चैक करता है, अधिक सूचना एवं रेफरेंसिज के लिए रिसर्च (Research) टास्कपेन खोलता है, सिनानियम्स (Synonyms) खोजता है, ताकि यूजर एक ही शब्द को बार-बार प्रयोग न करें, ग्रामर आदि को चैक करता है।

(ii) Language यह यूजर टेक्स्ट की अन्य भाषाओं के अनुसार (Translate) करने की अनुमति देता है।

(iii) Comments – दी गई स्लाइड के विषय में कमेन्ट्स जोड़ सकते हैं या उन्हें एडिट कर सकते हैं या स्लाइड पर कन्टेन्ट्स के विशेष भाग के विषय में भी कमेन्ट्स जोड़ सकते हैं। जब यूजर नैरेशन की योजना बनाते हैं, तो यह बहुत सहायक होता है।

 

8. व्यू टैय (View Tab) 

इस टैब में सात ग्रुप्स होते हैं Presentation Views, Master Views, Show, Zoom, Color/Grayscale, Window और Macros I

व्यू टैब के ग्रुप्स निम्न प्रकार हैं-

(i) Presentation Views स्क्रीन व्यूइंग (Viewing) या प्रिंटआउट्स के लिए यूजर नॉर्मल, स्लाइड, नॉट्स पेज, रीडिंग व्यू (Reading View) विकल्पों में से आवश्यकतानुसार विकल्प चुक सकते हैं।

(ii) Master Views प्रेजेन्टेशन को Slide Master व्यू में देखने के लिए या Handout Master व्यू और Notes Master व्यू में देखने के लिए यूजर विकल्प चुन सकते हैं।

(iii) Show – यह Ruler, Gridlines, Guides टूल्स डिस्प्ले करता है, ताकि यूजर ऑब्जेक्ट्स को स्लाइड्स में इच्छानुसार रख सकें।

(iv) Zoom – इसके द्वारा स्लाइड विण्डो का साइज परिवर्तित करने के बाद जूम इन या जूम आउट करते हैं।

(v) Color/Grayscale प्रेजेन्टेशन को Color, Grayscale या Black and White में देखा जा सकता है।

(vi) Window – जिस विण्डो में यूजर कार्य करते हैं, उसे इस प्रकार से अरेंज करते हैं, ताकि इससे अधिक लाभ हो सकें।

(vii) Macros – इसकी सहायता से कस्टम Macros बनाते हैं और प्रयोग करते हैं, ताकि जटिल कार्यों को भी सिंगल या डबल क्लिक से किया जा सके।

 

FAQ’S

1. टैब्स मतलब क्या होता है ?

टैब्स का मतलब तुरंत बाद या पश्चात् होता है

2. कंप्यूटर में टैब्स क्या होता है ?

कंप्यूटर में टैब्स कुंजी का प्रयोग करने से टैब्स अगले स्टेप पर चला जाता है जो टैब्स का दुसरे स्टेप पर जाना अद्र्श होता है

3. टैब्स का इंग्लिश नाम क्या है ?

टैब्स को इंग्लिश में tabs लिखते है

 

Conclusion (निष्कर्ष)

तो दोस्त्तो आज आपने क्या सीखा है मुझे आशा है कि आप इस पोस्ट में टैब्स क्या हैं? (Tab in hindi) के बारे में बहुत ही अच्छे से जाना होगा और यह पोस्ट बहुत ही हेल्पफुल लगी होगी अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है t comment बॉक्स में comment करे तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे

 

 

 

Leave a Comment