स्टॉक ग्रुप (Stock Group) के निर्माण की प्रक्रिया क्या है। बताइए

नमस्कार दोस्तों आपका इस ब्लॉग पोस्ट स्टॉक ग्रुप (Stock Group) के निर्माण की प्रक्रिया क्या है। इसके बारे में आपको विस्तार से जानकारी देगे ताकि आपको कही और विजिट करने की जरूरत न पड़े और आपका समय भी बच जाये और सही जानकारी मिल सके जो आपके काम आ सके। इस पोस्ट में आपको stock ग्रुप के निर्माण की पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी मिलेगी जो की user के लिए बहुत ही जरूरी होती है इसमे आपको मल्टीपल स्टॉक ग्रुप से लेकर स्टॉक आइटम बनाने की पूरी जानकारी दी जाएगी।

तो चलिए दोस्तों शुरू करते है-

 

स्टॉक ग्रुप (Stock Group) के निर्माण की प्रक्रिया क्या है। बताइए

स्टॉक ग्रुप का निर्माण करने की प्रक्रिया निम्न प्रकार है-

  1. सिंगल स्टॉक ग्रुप खोलना 
  2. डिस्प्ले (Display)
  3. अल्ट्रेशन  (Altration)
  4. मल्टीपल स्टॉक ग्रुप को खोलना
  5. स्टॉक आइटम का निर्माण
  6. मल्टीपल स्टॉक आइटम बनाना

 

1. सिंगल स्टॉक ग्रुप खोलना-

  • सिंगल स्टॉक ग्रुप खोलने के लिए इन invontery info.के स्टॉक ग्रुप विकल्प पर इंटर की दबाते हैं ऐसा करते ही निम्न मेन्यू प्रदर्शित होता है।
  • इसकी पहली भाग मे क्रिएट नमक विकल्प का उपयोग करें या कीबोर्ड के द्वारा C की दवाएं C ही को दबाए हमारे सामने स्टॉक ग्रुप समरी क्रिएशन का मेनू निम्नलिखित चित्र प्रदर्शित स्क्रीन पर दिखाई देता है।
  • इस मेनू में सबसे पहले आप विकल्प का नाम रखें इसके बाद आप under नमक विकल्प पर आ जाएं under नमक विकल्प में आपको लिस्ट और सन ग्रुप दिखाई देंगे क्योंकि
  • अभी हम पहले ही ग्रुप खोल रहे हैं तो यहां पर हमें प्राइमरी ग्रुप मिलेगा प्राइमरी ग्रुप का अर्थ यह होता है कि हम जिस ग्रुप को खोल रहे हैं
  • वह मुख्य तरह से उसके अंदर रहे आखिर में एक विकल्प Can Quanites of Items be ADDES ? होता है जो यह पूछता है कि क्या contaty आपके द्वारा खोले जा रहे आइटम में प्रयोग होगी यदि ऐसा है
  • तो Y (KEY) को दबा दें और एक्सेप्ट मेनू में आकर ऐसे स्वीकार करें।

 

2. डिस्प्ले (Display)

  1. आपके द्वारा खोले गए ग्रुप में कौन-कौन से हैं यह देखने के लिए डिस्प्ले (Display) विकल्प का प्रयोग करते हैं इसके लिए कीबोर्ड से D की को दबा देते हैं ग्रुप की संख्या स्क्रीन में दिखाई देने लगती है
  2. जिस आइटम की आप विस्तृत जानकारी चाहते हैं उसे ग्रुप को सेलेक्ट करके इंटर की को दबा दें आपके सामने विस्तृत जानकारी आ जाएगी
  3. इसमें मेन्यू से बाहर निकालने के लिए आपको पुनः  Esc. key को दबाना होगा।

 

3. अल्ट्रेशन  (Altration)

यदि आपकी बनाए गए स्टॉक ग्रुप में कोई परिवर्तन करना है तो आप A की को दबा दें आपके सामने ग्रुप चुनने का मेनू आ जाएगा यहां से ग्रुप चुनने के पश्चात जैसे ही आप इंटर की को दबाएंगे आपके सामने अल्टरेशन का मेन्यू निम्न प्रकार से आ जाएगा

यहां से आप ग्रुप का नाम वह जिसके अंदर रहेगा और उसमें क्वांटिटी का प्रयोग होगा या नहीं इत्यादि को बदल सकते हैं इस प्रकार आप सिंगल स्टॉक ग्रुप ( Single Stock Group) खोल सकते हैं।

 

4. मल्टीपल स्टॉक ग्रुप को खोलना

मल्टीपल स्टॉक ग्रुप को हम सिंगल स्टॉप ग्रुप की भांति ही बना सकते हैं इसके लिए आप स्टॉप ग्रुप के उप विकल्प मल्टीप्ल स्टॉप ग्रुप (Multiple stock group) के क्रिएट (Create) विकल्प पर क्लिक करें या फिर R की को दबा दें और  R की को दबाते ही आपके सामने मॉनिटर स्क्रीन पर एक उप मेन्यू निम्नानुसार प्रदर्शित होगा।

यहां अपनी आवश्यकता अनुसार परिवर्तन करके आप Y की को दबाकर इसे सेव ( Save) कर ले।

 

5. स्टॉक आइटम का निर्माण

  • स्टॉक आइटम बनाने के लिए इन्वेंटरी इन्फो ( Invontery Info.) के मुख्य मेन्यू में आना होगा और कीबोर्ड के द्वारा I की को दबाना होगा
  • जैसे ही आप I की को दबाएंगे तो आपके सम्मुख स्टॉक आइटम बनाने का सब मेनू (Sub menu) आ जाएगा।
  • इस सब मेन्यू में क्रिएट (Create) नामक विकल्प पर इंटर की दवाएं या कीबोर्ड से C की को दबाए आपके सामने स्टॉक क्रिएशन ( Stock Creation) मेन्यू निम्न चित्रण खुला जावेगा।
  • इसमें सबसे पहले आइटम का नाम इसके बाद कोई पार्ट नंबर हो तो वह पार्ट नंबर लिखने के बाद डिस्क्रिप्शन टाइप करें
  • इसके बाद आपका collection under नामक विकल्प में आ जाएगा यहां पर आपके द्वारा खोले गए ग्रुप की सूची मिलेगी आप जिस सूची में इसे रखना चाहे उसे सेलेक्ट करें।
  • सिलेक्ट करने के पश्चात आपका करें कर्सर रिमार्क remark नामक विकल्प पर आएगा यदि आप इस आइटम से संबंधित कोई भी रिमार्क टाइप करना चाहे तो वह आप यहां से कर सकते हैं रिमार्क के पश्चात आपका कर्सर Category नामक विकल्प पर आएगा Category नामक विकल्प में आप इसके लिए Category का निर्धारण कर सकते हैं यदि अपने Category का निर्माण अभी तक नहीं किया है तो आपके सामने विकल्प मेन्यू आएगा।
  • आपका कर्सर यूनिट (Unit) पर आएगी यहां पर यदि आप किसी वैकल्पिक यूनिट का प्रयोग करना चाहते हैं तो  Not Applicable लिख दें अपनी आवश्यकता अनुसार यूनिट का निर्माण करने के पश्चात आपके द्वारा बनाई गई यूनिट दिखाई देगी और आप खोली गई यूनिट का चुनाव करें।
  • इसके बाद कर्सर अल्टर स्टैंडर्ड रेट पर आएगा यदि आप इसके लिए स्टैंडर्ड रेट बनाना चाहते हैं तो आप यहां पर Yes कर दें आपके सामने स्टैंडर्ड रेट तय करने के लिए नाम स्क्रीन आएगी।
  • यहां पर आपको इसकी स्टैंडर्ड कास्ट निर्धारित करनी है यदि आप किसी अल्टर या कंपोनेंट को इसके साथ उसे करना चाहते हैं तो इससे संबंधित ऑप्शन भरें इसी स्क्रीन पर सेलिंग रेट तय करने की भी स्किन आएगी इसके द्वारा सेलिंग प्राइस भी निर्धारित कर लें।
  • अब इसके बाद बिहेवियर (Behavior) नामक ऑप्शन पर आए इस भाग में आपको इन्वेंटरी (Invontry) से रिलेटेड कई ऑप्शन मिलेंगे इन्हें आप स्क्रीन पर Yes और No कर सकते हैं इसके बाद आप ओपनिंग नामक भाग में आएंगे जहां पर आइटम के लिए ओपनिंग बैलेंस लिखें कि आपके पास यह कुल कितना था और उसका रेट क्या था इसके बाद टैली स्वयं ही उसकी वैल्यू कैलकुलेट कर देगा और आपको स्क्रीन स्वीकार करने के लिए निम्नानुसार मेन्यू आयेगा।
  • यहां पर Y की को दबाकर आप स्क्रीन स्वीकार कर सकते हैं इस तरह से आप सिंगल आइटम बना सकते हैं इसी के साथ क्रिएट के नीचे अल्टर और डिस्प्ले ऑप्शन का प्रयोग करके आप स्टॉक आइटम में कोई भी परिवर्तन कर सकते हैं या उनकी सूची देख सकते हैं।

 

6. मल्टीपल स्टॉक आइटम बनाना

  1. मल्टीपल स्टॉक आइटम बनाने के लिए आप इसके अंतर्गत दिए हुए क्रिएट नमक ऑप्शन पर आकर इंटर की को दबाए यहां R की को दबाए आपके सामने नीचे दिए गए स्कीम की तरह से मल्टीप्ल स्टॉक क्रिएशन का मेनू आएगा।
  2. यहां पर आप स्टॉक का नाम मल्टीप्ल स्टॉक आइटम के लिए यूनिट ओपनिंग क्वांटिटी रेट और अमाउंट तैयारी का निर्धारण करें तथा स्क्रीन को सेव कर ले इन्हें देखने के लिए आप डिस्प्ले ऑप्शन का तथा बदलाव करने के लिए आप अल्टर ऑप्शन का प्रयोग कर सकते हैं इस तरह से आप मल्टी स्टॉक आइटम को भी बना सकते हैं।
  3. मल्टी या सिंगल स्टॉक आइटम बनाते समय दाई ओर विकल्प पट्टी पर कुछ विकल्प रहते हैं जिनका प्रयोग करके तेजी से डाटा एंट्री कर सकते हैं
  4. जैसे कि पैरेंट, जीरो ओपनिंग बैलेंस, न्यू पेरेंट, एस्केप नाम एस्केप पैरेंट आदि इनके आगे जो लिखा होता है इनको दबाने से वह तत्व डाटा में एंट्री हो जाते हैं और skip भी हो जाते हैं इस तरह से स्टॉक आइटम का निर्माण उनमें परिवर्तन व उन्हें देख सकते हैं।

 

FAQ’S

1. स्टॉक ग्रुप का निर्माण करने की प्रक्रिया कितने प्रकार से है ?

स्टॉक ग्रुप का निर्माण करने की प्रक्रिया के 06 प्रकार है ।

2.  स्टॉक क्रिएशन ( Stock Creation) मेन्यू क्या काम करता है?

इसमें सबसे पहले आइटम का नाम इसके बाद कोई पार्ट नंबर हो तो वह पार्ट नंबर लिखने के बाद डिस्क्रिप्शन टाइप करें।

3. मल्टी या सिंगल स्टॉक आइटम बनाते समय दाई ओर विकल्प पट्टी पर कुछ विकल्प रहते हैं जिनका प्रयोग किस प्रकार किया जाता हैं ?

इसका प्रयोग करके तेजी से डाटा एंट्री कर सकते हैं जैसे कि पैरेंट, जीरो ओपनिंग बैलेंस, न्यू पेरेंट, एस्केप नाम एस्केप पैरेंट आदि इनके आगे जो लिखा होता है इनको दबाने से वह तत्व डाटा में एंट्री हो जाते हैं और skip भी हो जाते हैं।

 

Conclusion (निष्कर्ष)

तो दोस्तों आपको मेरी ये पोस्ट स्टॉक ग्रुप (Stock Group) के निर्माण की प्रक्रिया क्या है। बताइए कैसी लगी मुझे आशा और उम्मीद है कि आपको मेरी यह पोस्ट बहुत ही अच्छी और हेल्पफुल लगी होगी अगर आपका पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल है तो आप मुझे comment बॉक्स में comment जरूर करे तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे।

 

 

Leave a Comment