मल्टीमीडिया क्या है? मल्टीमीडिया के तत्व और एक्स्टेन्शन क्या-क्या है।

नमस्कार दोस्तों, आज आपको इस पोस्ट में मल्टीमीडिया क्या है? मल्टीमीडिया के तत्व, एक्स्टेन्शन क्या-क्या है। (What is Multimedia, 7 Elements,Extension) के बारे में पूरी जानकारी देगे तथा मल्टीमीडिया से रिलेटेड सारी इनफार्मेशन बतायेगे। किसी भी टीवी, ऑडियो ,विडियो, एनीमेशन, चलचित्र आदि को देखना सभी को अच्छा लगता है और यह सभी साधन मल्टीमीडिया से जुड़े हुए है जो हमे इनके उपयोग को अकर्षिक करता है जिससे आप इसके बारे में पूरी तरह से समझ पायेगे क्यूकि आज का वर्तमान समय मल्टीमीडिया से जुडा हुआ है आप कही भी जाते तो आपको मनोरंजन,संगीत  के साधन बहुत अच्छे लागते है मल्टीमीडिया के साधन होने से लोग अपने काम में मस्त रहते है। तो चलिये दोस्तों शुरू करते है – multimedia in Hindi –

 

मल्टीमीडिया क्या हैं? (multimedia kya hai)

multimedia in Hindi – मल्टीमीडिया, Media अंग्रेजी के Medium शब्द का बहुवचन है Me-dium का अर्थ है-माध्यम।  किसी भी सूचना को किसी माध्यम द्वारा ही प्रस्तुत किया जा सकता है जिस प्रकार सूचना को प्रस्तुत करने के लिए एक साथ एक से अधिक माध्यम का प्रयोग किया जाता है उसे मल्टीमीडिया कहा जाता है।

मल्टीमीडिया कंप्यूटर तथा उपयोगकर्ता के बीच दो तरफ़ा संवाद (Two Way Communication) स्थापित करता है। किसी सूचना को प्रस्तुत करने के माध्यम (Medium) है-

  • टेक्स्ट (Text) – अक्षरों, अंकों तथा स्पेशल कैरेक्टर के माध्यम से सूचना का प्रस्तुतिकरण।
  • रेखाचित्र (Graphics) – लाइनों से बने चित्र।
  • चित्र (image) – पिक्सल द्वारा तैयार चित्र।
  • एनिमेशन (Animation) – रेखा चित्र द्वारा बने गतिमान प्रतीत होते चित्र।
  • आवाज (Audio) – ध्वनि संकेत
  • वीडियो (Video) – घटनाओं की गतिमान प्रस्तुति।

मल्टीमीडिया डाटा को कंप्यूटर से स्टोर करने के लिए अधिक मेमोरी की आवश्यकता होती है जबकि इन्हें प्ले करने के लिए तीव्र प्राथमिक मेमोरी तथा उच्च गति का processer बेस्ट होता है।

मल्टीमीडिया फाइल एक्स्टेन्शन  (Multimedia File Extension) 

Multimedia File Extension इस प्रकार से है –

      Multimedia File Extension

  • JPEG                –        .Jpg
  • GIF                  –        .gif
  • Audio File        –       .wav; .Voc
  • MPEG              –       .mpg
  • MIDI                –       .mid
  • Bit map           –       .bmp
  • Text File           –       .txt

 

मल्टीमीडिया के लिए आवश्यक उपकरण –

मल्टीमीडिया के लिए आवश्यक उपकरण निम्नलिखित है।

  1. एक कंप्यूटर
  2. 64 मेगावाट एमबी क्षमता की मुख्य मेमोरी (RAM)
  3. वीडियो कार्ड
  4. ऑडियो कार्ड
  5. स्पीकर
  6. सीडी रोम या डीवीडी ड्राइव
  7. मल्टीमीडिया सॉफ्टवेयर
  8. माइक तथा वेब कैमरा।

 

मल्टीमीडिया के तत्व (Elements of Multimedia)

मल्टीमीडिया के तत्व निम्नलिखित हैं-

  1.  टेक्स्ट (Text)
  2.  चित्र या रेखाचित्र (Picture  and Graphics)
  3.  ध्वनि (Audio)
  4.  विडियो (Video)
  5. एनीमेशन (Animation)

तो दोस्तों अब मल्टीमीडिया के तत्व (Elements) को विस्तार के जानते है –

1. टेक्स्ट (Text)

टेक्स्ट अक्षर (Letter) अंक (Numbers) तथा विशिष्ट चिन्ह (Special Characters) के माध्यम से सूचना को प्रस्तुत करते हैं टेक्स्ट को ग्राफिक्स, चित्र, आवाज या एनीमेशन के साथ जोड़ा जा सकता है टेक्स्ट को अलग-अलग रंग (Colour),फॉन्ट (Font ) तथा त्रि-आयामी प्रभाव द्वारा और अधिक प्रभावी बनाया जा सकता है।

2. चित्र या रेखाचित्र (Picture  and Graphics)

मल्टीमीडिया में चित्र रेखाचित्र का भी प्रयोग किया जाता है कंप्यूटर में से डिजिटल डाटा के रूप में स्टोर किया जाता है  इसे स्टोर करने के लिए मुख्य प्रचलित सॉफ्टवेयर हैं।

  • GIF (Graphical Interchange Format) – इसमें 8 बीट कलर इमेज का प्रयोग होता है।
  • JPEG (Joint Photographic Expert Group) – इसमें 24 फीट कलर इमेज का प्रयोग किया जाता है 24 बीट कलर True Colour कहलाता है।
  • Bitmap Graphics –  बिटमैप ग्राफिक्स में चित्र रेखाचित्र को bits या pixels में विभाजित कर कंप्यूटर पर स्टोर किया जाता है scaner तथा डिजिटल कैमरा के चित्र Bitmap Graphics में स्टोर किए जाते हैं कुछ प्रचलित बिटमैप ग्राफिक (Bitmap Graphics) सॉफ्टवेयर हैं जैसे- Adobe Photoshop, Corel Draw, 3D Studio आदि।
  • Vector Graphics – वेक्टर ग्रैफिक्स में चित्र या  रेखाचित्र बनाने के लिए गणितीय अक्ष (Mathmatics Axis) का प्रयोग किया जाता है इससे ग्राफिक्स में बार-बार परिवर्तन करना आसान होता है इसका उपयोग कार्टून बनाना तथा एनीमेशन में किया जाता है।

3. ध्वनि (Audio)

  • वे तरंगे जिन्हें हम सुन सकते हैं audio या आवाज कहलाते हैं ऑडियो मल्टीमीडिया का अभिन्न अंग है ऑडियो संकेत का आवृत्ति परास 200Hz से 3200 Hz तक होता है जबकि मनुष्य 20 Hz से 20 किलो Hz तक सुन सकता है।
  • Audio एनालॉग संकेत होता है इसे माइक्रोफोन द्वारा विधुत तरंगों में बदल जाता है। इन विधुत तरंगों को डिजिटल डाटा नाम बदलकर कंप्यूटर में स्टोर किया जाता है इस डिजिटल ऑडियो को सुनने के लिए इन्हें विधुत तरंगों में बदला जाता है।
  • स्पीकर, हेडफोन इन विधुत तरंगों को एनालॉग ध्वनि तरंगो में बदलते हैं जिसे हमारे कान सुन पाते हैं कंप्यूटर द्वारा कृत्रिम डिजिटल ऑडियो डाटा तैयार किया जाता है जिसे हम स्पीकर, हेडफोन के जरिए सुन सकते हैं इसके लिए कंप्यूटर में साउंड कार्ड हार्डवेयर होना जरूरी है मल्टीमीडिया कंप्यूटर ऑडियो द्वारा उत्पन्न करने उन्हें रिकॉर्ड करने तथा प्ले करने में सक्षम होता है।

कुछ प्रचलित ऑडियो फाइल फॉर्मेट है-

  1. Resourse interchange file Format (RIFF)
  2. Motion Picture Expert Group (MPEG)
  3. Musical Instrument Digital Interface (MIDI)

3.1  मिडी (MIDI) Musical Instrument Digital Interface

यह इलेक्ट्रॉनिक संगीत उद्योग (Electronic Music) द्वारा निर्धारित मानक है जो ध्वनि उत्पाद यंत्रों, जैसे- सिंथेसाइज़र (Synthesizer)  या साउंड कार्ड को नियंत्रण व संचालित करता है मिडी इंटरफ़ेस का उपयोग कर ध्वनि संकेत को डिजिटल डाटा में बदल जाता है तथा पुनः डिजिटल डाटा को ध्वनि संकेत में बदल जाता है।

क्या आप जानते हैं?

ट्रांसड्यूसर (Transducer) एक उपकरण है जो किसी संकट सिग्नल को एक रूप से दूसरे रूप में बदलता है माइक्रोफोन ध्वनि तरंगों को विधुत तरंगों में बदलता है जबकि लाउडस्पीकर विधुत तरंगों को ध्वनि तरंगों में बदलता है अतः ये ट्रांसड्यूसर के उदाहरण है।

4. विडियो (Video)

मल्टीमीडिया कंप्यूटर वीडियो चित्रों की संख्या रिकॉर्ड एडिट स्टोर तथा प्ले कर सकता है जिसे कंप्यूटर मॉनिटर पर देखा जा सकता है इसके लिए वीडियो कार्ड हार्डवेयर का होना जरूरी है आजकल मल्टीमीडिया कंप्यूटर का उपयोग मनोरंजन के क्षेत्र में वीडियो रिकॉर्ड करना वीडियो चित्र देखना है तथा वीडियो गेम खेलने आदि में किया जाता है।

वीडियो डाटा स्टोर करने के लिए कुछ प्रचलित सॉफ्टवेयर हैं –

  • Motion Joint Photographic Expert Group (MJPEG)
  • Moving Pocture Expert Group (MPEG)

4.1 स्ट्रीमिंग (Streaming) –

ऑडियो वीडियो डाटा की फाइल काफी मेमोरी घेरती है तथा इंटरनेट पर उसके स्थानांतरण होने में काफी समय लगता है सामान्यतः डाउनलोड में डाटा ऑडियो, वीडियो फाइल का इस्तेमाल तभी किया जा सकता है जब फाइल को पूरी तरह स्थानांतरित कर दिया गया हो।

इस समस्या के समाधान के लिए Streaming में तकनीक का प्रयोग किया जाता है। इस तकनीक द्वारा ऑडियो, वीडियो फाइल को कंप्रेस (Compress) कर दिया जाता है जिससे वह कम स्थान घेरती है  इसके अतिरिक्त, फाइल को तुरंत ही चालू (Play) कर दिया जाता है जब फाइल प्ले हो रही हो, इस दौरान फल के बाकी हिस्से में डाउनलोड होते रहते हैं इस प्रकार, फाइल का प्रयोग करने के लिए पूरी फाइल के डाउनलोड होने का इंतजार नहीं करना पड़ता है इसे स्ट्रीमिंग कहते हैं।

Youtube वीडियो स्ट्रीमिंग का एक प्रचलित उदाहरण है।

4.2 मल्टीमिडिया कियोस्क (Multimedia kiosk)

कियोस्क एक इंटरएक्टिव मल्टीमीडिया कंप्यूटर है इसमें कंप्यूटर स्कीम पर स्थित ग्राफिकल यूजर इंटरफेस वाले आइकन को उंगलियों से छूटकर संग्रहित सूचना प्राप्त की जा सकती है इसमें सूचना को टेक्स्ट इमेज एनीमेशन साउंड या वीडियो या इनके सम्मिलित रूप में प्रकट किया जा सकता है कृषि का प्रयोग सार्वजनिक स्थलों जैसे रेलवे स्टेशन हवाई अड्डा अस्पताल पर्यटन स्थल होटल आदि पर उपयोगी जानकारी देने के लिए किया जाता है।

5. एनीमेशन (Animation)

  • स्थिर रेखा चित्रों का वह समूह जिसे एक के बाद एक लगातार इस तरह दिखाया जाता है की चित्र में गति का आभास हो एनीमेशन कहलाता है।
  • एनिमेशन में चित्रों की एक संख्या होती है जिसमें प्रत्येक चित्र को एक निश्चित समय अंतराल के बाद अगले चित्र से प्रतिस्थापित कर दिया जाता है ताकि चित्र गतिमान दिखाई पड़े।
  • इसके लिए एक सेकंड में काम से कम 25 से 30 क्रमबद्ध चित्र दिखाना पड़ता है।
  • एनीमेशन का उपयोग विज्ञापन कार्टून, फिल्मों, वीडियो गेम, सिनेमा तथा वर्चुअल रियलिटी आदि में किया जाता है।
  • एनीमेशन का प्रयोग सामान्यतः उन प्रभावों को दर्शाने के लिए भी किया जाता है जहां वीडियो ग्राफी संभव नहीं है।
  • एनिमेशन के लिए 3D स्टूडियो एनीमेशन स्टूडियो एडोब फोटोशॉप आदि सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है एनीमेशन वीडियो को MPEG फॉर्मेट में स्टोर किया जाता है।

वर्चुअल रियलिटी (Virtual Reality)

कंप्यूटर द्वारा मल्टीमीडिया का प्रयोग कर उपयोगकर्ता के चारों ओर ऐसा वातावरण तैयार किया जाता है जिससे उसे वास्तविक स्थिति जैसा आभास हो इस कृत्रिम वर्चुअल रियलिटी (Virtual Reality ) कहा जाता है।

वर्चुअल रियलिटी में त्रिविमीय तस्वीर (3 Dimentional Picture) तथा सराउंड साउंड (Surround Sound ) का भी उपयोग किया जाता है इसका प्रयोग ट्रेनिंग सिम्युलेटर तैयार करने में किया जाता है।

शॉक वेव (Shock Wave)

यह Macromedia Inc. कंपनी द्वारा विकसित एक तकनीक है जिसका प्रयोग कर वेब पेज में मल्टीमीडिया ऑब्जेक्ट डाला जा सकता है इसमें आवाज, चित्र, चलचित्र, एनीमेशन या इनमें से सभी को सभी हो सकते हैं शौक भी प्रोग्राम को शाकवेव प्लग इन (Shockwve) सॉफ्टवेयर द्वारा देखा जा सकता है।

एडोब फ्लैश (Adove Flash)

यह शॉक वेव की तरह ही वेब पेज पर मल्टीमीडिया ऑब्जेक्ट डालने की एक तकनीक है जिसे एडोब फ्लैश प्लेयर द्वारा देखा जा सकता है।

 

मल्टीमीडिया का उपयोग –

multimedia in Hindi – मल्टीमीडिया के प्रयोग निम्नलिखित है –

1. शिक्षा (Educatuion) में शिक्षा को रोचक व इंटरएक्टिव बनाने के लिए मल्टीमीडिया का प्रयोग किया जाता है वर्चुअल क्लास तथा आई लाइनिंग में मल्टीमीडिया का प्रयोग किया जा रहा है।

2. मनोरंजन में फिल्म देखने वीडियो गेम देखने देखने खेलने एनीमेशन तथा कार्टून फिल्म के निर्माण में मल्टीमीडिया का प्रयोग किया जाता है।

3. प्रशिक्षण ट्रेनिंग के लिए मल्टीमीडिया का उपयोग खेल कला ड्राइविंग जैसे अन्य क्षेत्रों में प्रशिक्षण के लिए किया जाता है।

4. व्यापार के क्षेत्र में आकर्षक विज्ञापन तैयार करने में।

5. वर्चुअल रियलिटी के क्षेत्र में।

6. वीडियो कांफ्रेस्सिंग में।

7. मल्टीमीडिया किओस्क द्वारा सूचना प्रदान करने में।

8. फिल्मों में स्पेशल इफेक्ट डालने के लिए।

9. किसी सूचना को बेहतर व प्रभावी ढंग से प्रस्तुत कर लोगों तक पहुंचाने के लिए।

 

FAQ 

  1. मल्टीमीडिया क्या है?

मल्टीमीडिया, Media अंग्रेजी के Medium शब्द का बहुवचन है Me-dium का अर्थ है-माध्यम | किसी भी सूचना को किसी माध्यम द्वारा ही प्रस्तुत किया जा सकता है जिस प्रकार सूचना को प्रस्तुत करने के लिए एक साथ एक से अधिक माध्यम का प्रयोग किया जाता है उसे मल्टीमीडिया कहा जाता है।

    2. मल्टीमीडिया के कौन से तत्व बेहतर है?

टेक्स्ट Text  अक्षर (Letter) अंक (Numbers) तथा विशिष्ट चिन्ह (Special Characters) के माध्यम से सूचना को प्रस्तुत करते हैं टेक्स्ट को ग्राफिक्स, चित्र, आवाज या एनीमेशन के साथ जोड़ा जा सकता है टेक्स्ट को अलग-अलग रंग (Colour),फॉन्ट (Font ) तथा त्रि-आयामी प्रभाव द्वारा और अधिक प्रभावी बनाया जा सकता है।

   3. एनीमेशन क्या है?

स्थिर रेखा चित्रों का वह समूह जिसे एक के बाद एक लगातार इस तरह दिखाया जाता है की चित्र में गति का आभास हो एनीमेशन कहलाता है।

 

Conclusion (निष्कर्ष)

तो दोस्तों आज आपने इस पोस्ट में मल्टीमीडिया क्या है? मल्टीमीडिया के तत्व, एक्स्टेन्शन क्या-क्या है। (What is Multimedia ) के बारे में अच्छे से जाना और समझा होगा अगर आपको मेरी ये पोस्ट हेल्पफुल लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे ।

Leave a Comment